Ads Area

Omicron variant kya hai hindi me jankari || ओमिक्राॅन वैरिएंट क्या है , हिन्दी में सम्पूर्ण जानकारी

ओमिक्राॅन वैरिएंट क्या है , हिन्दी में सम्पूर्ण जानकारी ||Omicron variant kya hai hindi me jankari 


दोस्तों हाल फिलहाल ही में एक नया शब्द बहुत चर्चित हो रहा है, और शायद आपने भी इसे सुना होगा जिसका नाम है -  ओमीक्राॅन ( OMICRON ) 

मीडिया द्वारा प्रकाशित खबरों में  बताया जा चुका है कि यह  कोविड - 19 के old variant  डेल्टा प्लस  से भी अत्यधिक खतरनाक है । 


Third wave of corona virus as a new variant 'Omicron'

तो दोस्तों आइये आसान भाषा में और विस्तृत रूप से ओमिक्राॅन क्या है और उसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी को समझने की कोशिश करेंगे और साथ ही हम ये भी समझेंगे कि ओमिक्राॅन वैक्सीन युक्त जनों को कितना प्रभावित करता है ।  

ओमिक्राॅन क्या है ।||what is Omicron 


ओमिक्राॅन कोरोना वायरस का ही न्यू वर्जन  वैरिएंट है  , जो डेल्टा प्लस वैरिएंट से भी अधिक घातक है , ओमिक्राॅन की खास बात यह है कि इसमें म्यूटेशन या उत्परिवर्तन ( किसी जीन के डी एन ए मे होने वाला परिवर्तन म्यूटेशन कहलाता है) विस्तार करने की क्षमता बहुत अधिक है यानि ओमिक्राॅन मानव शरीर की कोशिकाओं में प्रवस्थ होकर तीव्र गति से अपने जैसी और काॅपी( वायरस रेप्लीकेशन) करके अधिक संक्रामक फैलाने में सक्षम है इसलिए इसे स्थिति अनुसार चिंता का विषय माना जा रहा है । 


इसमें 30++ स्पाइक प्रोटीन हैं , स्पाइक प्रोटीन वायरस की ऊपरी कांटेनुमा  बाहरी लाइन होती है, यह मानव शरीर के अंदर ही  कोशिकाओं में चिपकने का कार्य करती है, यह प्रोटीन आर एन ए द्वारा उत्पन्न होती है , यही प्रोटीन ही ओमिक्राॅन को शरीर के अंदर प्रवेश करने में मदद करतीं हैं जो मानवीय कोशिका प्रोटीन ACE2 के साथ मिलकर संक्रामक फैलाते हैं। 


ओमिक्राॅन में म्यूटेशन बहुत तीव्र गति से होता है, लेकिन यह किस प्रकार होता है आइये जानते हैं - 


ओमिक्राॅन में म्यूटेशन तभी होता है, जब वायरस शरीर के अंदर प्रवेश कर चुका हो, जब वायरस रेप्लीकेशन कर रहा होता है या स्वयं की काॅपी बना रहा होता है तो वायरस का जीन वायरस को प्रोटीन ( स्पाइक प्रोटीन) में परिवर्तित देता है, तो  यही प्रोटीन वायरस की प्रकृति को भी भिन्न कर देते हैं , इस पूरी प्रक्रिया को ही  वायरस में  म्यूटेशन (उत्परिवर्तन)  का होना दर्शाता है। 


ओमिक्राॅन  के लक्षण क्या- क्या हैं - 


1- बुखार ( शरीर का तापमान सामान्य से ज्यादा होने लगता है)
2- सूखी खांसी। 
3- गले में खराश । 
4- थकावट । 
5- मांशपेशियों में दर्द । 

उपर्युक्त सभी लक्षण ओमिक्राॅन संक्रमित व्यक्ति में प्रतीत होते हैं । 

इस नये वैरिएंट का नाम ओमिक्राॅन क्यों रखा गया । 


कोरोना वायरस का नया वैरिएंट हो या कोई भी पुराना वैरिएंट सभी का नाम  W. H. O ( world health organisation) द्वारा ही रखा जाता है । 
खास बात यह  है कि अभी तक के सभी वैरिएंट का नाम ग्रीक वर्णमाला के अक्षरों पर ही रखा गया है तो इससे यह भी सुनिश्चित होता है कि ओमिक्राॅन शब्द भी ग्रीक वर्ण अक्षर से ही लिया गया है। 


यह भी पढ़ें - मच्छर आपको ही क्यों काटते हैं । 


ओमिक्राॅन नाम का चुनाव कैसे किया गया। 


जैसा कि आप सभी शायद जानते होंगे ग्रीक वर्णमाला के शब्द पढ़ने में भी उतनें ही कठिन लगते हैं जितना कि लिखने में जोकि निम्न लिखित है -
एल्फा, बीटा, गामा, _ _ _ _ _ _ _ लैण्ड, म्यू आदि
ये सभी अक्षर  को आप जानते भी होंगे  और  आप इन्हें विज्ञान और गणित विषय में उपयोग भी करते आ  रहें हैं लेकिन आप लोगो में  शायद ही कोई जानता होगा कि ये ग्रीक शब्द है । 


इन्ही ग्रीक शब्द की श्रेणी में जब आप आगे बढो़गे  तब आप देखेंगे कि 15वां अक्षर ओमिक्राॅन ही है जो कोविड- 19 के इस नये वैरिएंट का नाम है । 

सभी अक्षर निम्नलिखित फोटो में दर्शाये गये  हैं । 


All Greek word in sign
All Greek word ( one to fifteen) 
fifteen word is OMICRON who is the name of new variant. 


फिलहाल आपको जानकारी के लिए बता दे कि  W. H. O द्वारा कोविड-19 के 12 ग्रीक वर्णो का उपयोग किया जा चुका है । 
तो अब आप ये सोचेंगे कि 12वें  ग्रीक अक्षर के बाद 13वां शब्द न्यू(nu)  का चुनाव करना चाहिए था तो सीधा 15वें अक्षर ओमिक्राॅन  का चुनाव क्यों किया गया । 


आइये आसान भाषा में समझते हैं - 


12 वें अक्षर तक उपयोग होने के बाद 13 वां शब्द का मतलब होता है - Nu (न्यू) यानि नया । 
अगर नया ग्रीक शब्द इस वैरिएंट का नाम रख दिया जाता तो यह गलत होता क्योंकि यह कोई नया वायरस नहीं है, बल्कि कोविड-19 का ही स्वरूप है,  अब अगर भविष्य में फिर से कोई नया वैरिएंट आ गया तो लोगों में असमंजस में पड़ने वाली बात हो जाती । 


फिर आता है 14 वां अक्षर शी( Xi)  जो कि मेल खाता है, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग । 
तो ऐसे में यह नाम भी एक दूसरे देश के बीच भ्रमित संदेह उत्पन्न करता है, यही सब कारणों की वजह से W.H.O  ने ग्रीक वर्णमाला के 15 वें अक्षर ओमिक्राॅन को ही इस नये  variant  का नाम दिया। 


ओमिक्राॅन संक्रमित व्यक्ति का पता कैसे लगाया जाता है। 

 

दोस्तों ओमिक्राॅन संक्रमित का पता लगाने के लिए फिलहाल अभी कोई भी स्पेशल किट का प्रयोग पूरी दुनिया में नहीं हो रहा है क्योंकि अभी तक कोई भी किट विकसित नहीं हो पाई है, हालांकि RTPCR  टेस्ट द्वारा ओमिक्राॅन संक्रमित का पता लगाना सम्भव है । 


संक्रमित का पता लगाने के लिए सर्वप्रथम RTPCR टेस्ट सैंम्पल लिया जाता है अगर रिपोर्ट पाॅजीटिव आती है, तो सैंम्पल को दोबारा जीनोम सीक्वेंसिंग लैब में भेजा जायेगा, जांचोपरांत अगर सैंम्पल में एस जीन या स्पाइक प्रोटीन गायब है तो समझ लिया जाता है कि व्यक्ति पूर्ण रूप से ओमिक्राॅन संक्रमित हो चुका है क्योंकि इससे पहले के सभी पुराने वैरिएंट में एस जीन का पता चल जाता था अतः इस इससे स्पष्ट है कि अगर टेस्ट सैंम्पल में स्पाइक प्रोटीन नहीं है तो वह ओमिक्राॅन वैरिएंट ही है। 


जीनोम सीक्वेंसिंग प्रक्रिया क्या है । 


जब व्यक्ति में संक्रमित होने के लक्षण दिखाई देते हैं तो उसका सैंम्पल लिया जाता है, जिसमें R.N.A और  D.N.A  दोनों होतें है, इन्हीं को जीनोम भी कहा जाता है , इन्ही जीनोम को समझने के लिए कि उनमें क्या अंतर और क्या - क्या बदलाव हुए हैं इस पूरी क्रिया को ही जीनोम सीक्वेंसिंग प्रक्रिया कहा जाता है । 


यह वैक्सीन युक्त लोगों को कितना प्रभावित करता है। 

पूरे विश्व में एवं भारत में भी अधिकांश आबादी वैक्सीन की दोनों डोज ले चुकी है और कहीं- कहीं पर तो बूस्टर डोज भी उपलब्ध कराई जा रही है , ऐसे में यह प्रश्न का उठना लाजमी है । 

ओमिक्राॅन वैरिएंट में जो म्यूटेशन होता है , वह समूह में एक दूसरे के सम्पर्क में रहते हैं, चूंकि इसमें 30++ स्पाइक प्रोटीन है जो और भी अधिक क्षमता से मानव कोशिका में चिपकी रहती है । 

Spike protein kya hoti hai
Spike protein kya hoti hai 


वैक्सीन इसी स्पाइक प्रोटीन को खत्म करने के लिए ही लगाई जाती है, जो वायरस के बाहरी परत में कांटेनुमा लाइन निकली हुई होती है लेकिन ओमिक्राॅन में तो बिल्कुल अलग ही है इसमें तो एस जीन यानी स्पाइक प्रोटीन तो बिल्कुल गायब है । 


तो वैक्सीन कहाँ असर करेगी और क्या खत्म करेगी
कृपया ऐसे भ्रम में न रहें क्योंकि ओमिक्राॅन किसी को भी संक्रमित कर सकता है चाहे वह वैक्सीनधारी हो या न हो लेकिन हां जो भी वैक्सीनधारी है  अगर वह संक्रमित हो जाता है तो उसकी स्वास्थ्य स्थिति ज्यादा गम्भीर नही होगी। 


सर्वप्रथम ओमिक्राॅन कहाँ से विकसित हुआ । 


ओमिक्राॅन सर्वप्रथम दक्षिण अफ्रीका के सर्वाधिक जनसंख्या वाले क्षेत्र गौतेंग से चिन्हित किया गया लेकिन स्पष्ट  यह भी नहीं हो सका कि वास्तव में यह वैरिएंट कहाँ से विकसित हुआ है । 


लेकिन ओमिक्राॅन का संक्रमण सबसे पहले पूरी दुनिया में हांगकांग और बोत्सवाना के यात्री नागरिकों में संक्रमित रूप से चिन्हित किया गया , लेकिन वास्तव में मूल रूप से यह बात बिल्कुल स्पष्ट है कि ओमिक्राॅन का पता सर्वप्रथम दक्षिण अफ्रीका के वैज्ञानिकों ने ही लगायाा। 

यह भी जानिये - ईयरफोन में चुम्बक क्यों लगा होता है|


ओमिक्राॅन से बचाव हेतु कुछ आवश्यक टिप्स जिन पर आपको अमल करना चाहिए - 

दोस्तों कोई भी वायरस स्ट्रेन हो अगर आपका इम्यून सिस्टम मजबूत है तो कोई भी वायरस आपको नुकसान नहीं पहुचा सकता है - 


ओमिक्राॅन वैरिएंट के लिए भी सभी वही नियम व शर्तें हैं जो कोविड- 19 सम्बंधी थी इन्ही को ध्यान में रखते हुए इस संक्रमण से बचा जा सकता है -

  • 1- अत्यधिक तनाव में न रहें एवं पर्याप्त नींद लें। 
  • 2- ज्यादा तला भुना एवं गरिष्ठ भोजन न करेंं । 
  • 3- योग क्रिया करने की शुरुआत करेंं । 
  • 4- अधिक भीड़ वाली जगहों में जाने से बचें। 
  • 5- सैनिटाइजर का नियमित उपयोग करेंं । 
  • 6- साबुन से हाथ धोते रहें। 
  • 7- उबला हुआ भोजन व विटामिन सी युक्त पेय पदार्थों का सेवन अधिक करें । 
  • 8- आस-पास का वातावरण स्वच्छ रखें। 
  • 9- ओमिक्राॅन संक्रमित लक्षण जैसे- सूखी खांसी, हल्की । खराश, मांशपेशियों में दर्द, ज्यादा थकान आदि समस्या मालूम पड़ने पर RTPCR test  जरूर करवायें । 

दोस्तों आशा करता हूँ, कि आपको उपर्युक्त लेख ओमिक्राॅन क्या है से कुछ जानकारी प्राप्त हुई होगी , अगर आपको इस लेख में कोई भी त्रुटि समझ में आई तो कृपया अपनी राय कमेंट में जरूर दीजियेगा । 

एक टिप्पणी भेजें

7 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
  1. https://crickxyz.blogspot.com/2021/12/ms-dhoni-biography.html

    जवाब देंहटाएं
  2. https://crickxyz.blogspot.com/2021/12/ms-dhoni-biography.html

    जवाब देंहटाएं
  3. Awesome! This is the way of helping people I like it, keep going on and thanks for sharing this useful stuff with us. I like to visit here again for further information. Check out our post and give your precious suggestions;
    AliBaba Company
    Apps Like Airbnb

    जवाब देंहटाएं
  4. You have shared a very useful post i really like it keep going on, thanks for sharing such an informative content with us. I like to visit this helpful blog again for further updates.☺️
    Checkout our post and give your precious suggestions!
    Apps Like Airbnb
    Net Speed Monitor
    EaseUs Data Recovery Wizard

    जवाब देंहटाएं

Thank 🙏 you very much for comment.

Translate